close

  • Faithful to my Homeland, the Republic of Poland

     

  • वर्तमान समाचार

  • 19 January 2018

    प्रोफेसर याचेक ज़ापूटोविच को प्रधान मंत्री मातेउश मोरावित्स्की की सरकार में विदेश मामलों के मंत्री नियुक्त किया गया है।

    प्रोफेसर याचेक स्यापुटोविच ने वारसॉ सेंट्रल स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड स्टैटिस्टिक्स से स्नातक किया। उन्होंने अपनी पी एच डी थीसिस राजनीति शास्त्र में पोलिश अकादमी ऑफ साइंसेज पैन के राजनीतिक अध्ययन संस्थान से पूरी की | उन्होंने वॉरसॉ विश्वविद्यालय के पत्रकारिता और राजनीति विज्ञान के संकाय से मानविकी में  स्वतंत्र पढ़ाने के लिए विशेषज्ञता (habilitation) प्राप्त की। उन्होंने विदेशी विश्वविद्यालयों (ऑक्सफोर्ड, व अन्य) में स्नातकोत्तर अध्ययन भी पूरा किया।

     

    1970 और 1980 के दशक में वह लोकतांत्रिक विपक्ष के एक कार्यकर्ता रहे । उनकी गतिविधियों के कारण उन्हें 13 दिसंबर 1981 को नज़र बंद किया गया था ( जिसे  बाद में 25 नवंबर 1982 को हटा दिया गया था) और 1986 में कैद किया गया (बाद में  वे सार्वजनिक रिहाई के तहत सात महीने बाद रिहा किये गए )। 1988-1990 में वे स्वतंत्र और स्वशासित ट्रेड यूनियन सॉलिडेरिटी (एन एफ जेड सॉलिडारनॉस्क ) के अध्यक्ष की नागरिक समिति के सदस्य बने ।

     

    1990 में वे विदेश मंत्रालय में शामिल हो गए। 1990-1992 में पहले वे दूतावास और उत्प्रवास विभाग के उप निदेशक और तत्पश्चात निदेशक भी  रहे। 1998 से 2006 तक वह नागरिक सेवा के उप प्रमुख थे। 2006-2008 में वे विदेश मंत्रालय के रणनीति और विदेश नीति योजना विभाग के प्रभारी थे। 2008 से 2012 तक उन्होंने लोक प्रशासन के राष्ट्रीय स्कूल का नेतृत्व किया। जनवरी से सितंबर 2017 तक वे विदेश मंत्रालय के डिप्लोमैटिक अकादमी के प्रमुख थे। उन्होंने सितंबर 2017 में विदेश मंत्रालय के उप सचिव  के रूप में कानूनी और संधि मामलों का कार्यभार संभाला।

     

    2007 में, याचेक स्यापुटोविच को ऑर्डर ऑफ पोलोनिया रेस्टिट्यूटा के ऑफीसर क्रॉस से सम्मानित किया गया और फरवरी 2017 में पोलैंड की स्वतंत्रता और एकता और पोलिश पीपुल्स रिपब्लिक में मानवाधिकारों के सम्मान में उनकी उपलब्धियों के लिए उन्हें क्रॉस  ऑफ फ्रीडम एंड सॉलिडेरिटी से सम्मानित किया गया |

     

    वह 100 से अधिक लेखों और शैक्षिक मोनोग्राफ के लेखक हैं, जिनमें शामिल हैं: अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के सिद्धांत, आलोचना और प्रणालीकरण (Teorie stosunków międzynarodowych. Krytyka i systematyzacja ), पी डब्लू एन 2007; अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा, आधुनिक अवधारणाएं (Współczesne koncepcje ), पीडब्ल्यूएन 2012; संप्रभुता (Suwerenność), पीआईएसएम 2013, यूरोपीय एकीकरण के सिद्धांत  (Teorie integracji europejskiej ), पीडब्ल्यूएन 2018. वे यूनिवर्सिटी ऑफ वॉर्सो के राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन के संकाय में यूरोपीय अध्ययन संस्थान में एक शोधकर्ता हैं, औरयूरोपीय एकीकरण में विशेष दक्षता प्राप्त कर रहे हैं ।

     

    विदेश मंत्रालय प्रेस कार्यालय

    Print Print Share: